internet

Cookies kya hai| Advertisers Kaise apko track karte hai|hindi

 

Cookies Kya Hai computer language me Cookies ka kya Matlab Hota hai

cookies-kya-hai-kaise-kaam-kaam-karti-hai
Cookies
 
Cookies kya hai आप सभी ने कहीं ना कहीं इंटरनेट ब्राउज़र की सेटिंग्स में इंटरनेट ऑप्शंस में  या पढ़ाई  करते टाइम इंटरनेट की Cookies के बारे में जरूर सुना होगा computer me iska kya mtlb hota hai यह Cookies kaise kaam karta hai क्या आपके लिए अच्छा  है|  या नहीं| इसके बारे में बिस्तार से जानेंगे| 
 

Cookies एक तरह की Files होती है जो आपके internet Browser के Cache Memory में Store होती हैं| अब ये Cookies आती कहाँ से है? तो दोस्तों जब भी आप किसी Cookies Enable Website पर जाते हैं जैसे e-commerce site amazon, flipkart, snapdeal etc अगर आपके browser की Cookies option enable है तो ऐसे में ये Website आपके Computer, में एक Cookies file को implant कर देती हैं| 

 

आपने Website पर क्या Search किया, कौन सा Products Checkout किया| कितने देर तक आप Website पर रहे| ये सारी information Website तक Cookies file के माध्यम से पहुँचती है| फिर आप कभी Next Time उस Particular Website पर  Visit करेंगे तो इसी Cookies की Help से आपको वही सब Products  Recommendation के तौर पर दिखाया जाता है जो आपने पहले Search किया था| 

Captcha code kya hai? kaise kaam karta hai

cookies kya hai Kya cookies apke liye harmful Hoti hai?

Third-Party Cookies आपने कई तरह की ऐसी Website देखा होगा जहाँ पर कई तरह के ऐसे Ads चल रहे होते है| जैसे Popup Ads जिपर click करते ही 2-3 Window Open जो जाती हैं| अगर इस तरह की Website आपके Browser में Cookies implant कर देती है| तो Definitely ये आपके लिए Harmful हो सकता है

 

क्योकि Cookies encrypted form me nhi hoti hai लेकिन Cookies में आपकी  id  Password की Details नहीं होती| सिर्फ़ आपका Login Session Cookies में Store रहता है| Third-Party Cookies किसी एक Website का नहीं बल्कि जितनी भी Website अपने Visit किया है उन सभी का आपके Browser से data निकाल लेती है| अगर आपने कोई Payment किया है और Card details Save कर लिया है| तो ऐसे में आपके Card की Details चोरी हो सकती है| तो आप किसी भी

वेबसाइट पर अपने Debit card/ credit card Net Banking की details Save ना करें| अगर Amazon, Flipkart Website की Cookies की बात करें तो ये सिर्फ़ Amazon, Flipkart Website पर ही Work करती हैं| और आपके सहूलियत के लिए आपका Normal Data Access करती हैं|

लेकिन Third-Party Cookies आपके लिए Safe नहीं हैं| तो इन सब से बचने के लिए आप जो भी Browser Use करते हैं उसकी  Setting  में जाकर Cookies Block कर सकते है| Third-Party Cookies जो की Advertisement के जरिये आती हैं| इसे आपको Block कर देना चहिये| क्योकि ये आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैं| 

internet kaise kaam karta hai?

cookies privacy policy kya hai?

cookies privacy policy दोस्तों cookies के बारे में तो आप समझ ही गए होंगे| की जब भी आप first time किसी वेबसाइट पर अपना अकाउंट बनाते हो| कुछ भी Search करते हो तो आपका id password उस वेबसाइट पर save ना होकर आपके computer में Cookies File में Save हो जाता है|

 

जब आप फिर कभी उस Particular वेबसाइट पर दोबारा Visit करते हो  तो आपको अपना Details नहीं देनी पड़ती है| क्योकि Already आपकी सारी Details आपके computer में  Cookies folder में store है जो आपके काम आती है|

 Cookies  2 प्रकार की होती हैं| 

  1. Persistence Cookies 
  2. session cookies 
  1. session Cookies:-जैसा की इसके नाम से पता चल रहा है| session यानि की एक सत्र/ एक अवस्था आप किसी वेबसाइट पर Visit कीए, आपने  language अपने सहूलियत के अनुसार चुनाव कर लिया| आपने उसमे font या कुछ भी अपने मनमुताबिक बदलाव किया| लेकिन जब आप अपने Browser को Close करेंगे| तो session end होने से Cookies भी Delete हो जाएगी| 
  1. Persistence Cookies:- लेकिन Persistence Cookies Browser close करने से Delete नहीं होती आपके कंप्यूटर लैपटॉप में Store रहती है| अगली बार जब आप ब्राउज़र Open करेंगे तो cookies का इस्तेमाल करके आपकी Choice आपकी Setting किसी  Particular website के लिए Display हो जाएगी| इन cookies का इस्तेमाल करके कुछ वेबसाइट आपके डाटा/choice को ले लेती हैं| दोस्तों इस दुनिया में अगर कुछ पैसों से ज़्यदा कीमती है तो वो है आपका Data इस तरह ये website लोगो की पसंद नापसंद को collect करके विज्ञापन बनाने वाली कंपनियों को millions $ में बेंच देती हैं|   

 

cookies edit?

cookies edit kaise kare अगर आप Chrome Browser Use करते है तो आप Chrome Web से edit this cookies extension Download करके आसानी से वेबसाइट की cookies को edit/Delete कर सकते है| 


cookies Cache file clear Kaise Kare?

cookies cache file clear करने के लिए अपने keybord में Ctrl+Shift +Delete एक साथ Press करें| क्लिक करते ही आपके सामने एक Popup देखने को मिलेगा| यहाँ से आप अपने Browser History, Cookies,Cache file को आसानी से Clear कर सकते हैं|  

Cache Memory kya hai?

cache memory kya hai कंप्यूटर RAM का ही एक पार्ट होती  है| जब आप अपने कंप्यूटर/लैपटॉप में किसी एक फोल्डर को बार-बार Open करते है| तो Computer उस folder के Path को Save करके रख लेता है| भविष्य में अगर आप उसी फोल्डर को दोबारा Open करते हो तो ये फोल्डर बहुत जल्दी खुल जायेगा| समान प्रक्रिया Browser में भी होती है| मान लीजिये  आप दिन में 50 बार फेसबुक Open करते हो| तो पहली बार की तुलना में फेसबुक हर बार Fast open होगा| इससे आपका डाटा बर्बाद नहीं होता| 

Cache Memory ke Prakar?

सभी कंप्यूटर में तीन तरह की मेमोरी लगी होती हैं| आपका जो भी डाटा स्टोर होता है वो  Hard Disk Drive,में होता है|  दूसरा RAM, तीसरा कैश मेमोरी| Cache Memory Capacity में कम और Fast होती है| कैश मेमोरी तीन प्रकार की होती है| आपका जो भी Processor है|  Dual-core, Quard-core, Octa-core यहाँ पर हर एक Core की जो 2 मेमोरी होती है वे separate होती है| 
  1. Level1
  2. Level2
  3. Level3
  • L1 Cache Memory:- L1Cache Memory Processor के अंदर ही लगी रहती हैं|और इनकी प्रोसेसिंग बहुत तेज होती हैं| 
  • L2 Cache Memory:- L2Cache Memory Processor के अंदर भी लगी हो सकती हैं | या फिर Processor के आसपास एक Seprate IC पर भी लगी हो सकती है| Processor और इस IC के पीछे एक HighSpeed bus होता है| जिससे Processor उससे एक्सेस कर पता है| 
  • L3 Cache Memory:- L3Cache Memory ये एक Separate memory होती है| जो RAM से Double Speed की होती है| L3 memory सभी course के बिच share होती है| 


Computer Cache Memory ka Use?

कंप्यूटर के CPU को बहुत सारे Instruction का पालन करना पड़ता है| बहुत सारा डाटा को Read करना पड़ता है| तो ऐसे में Cache Memory Data को Save रखती है| जब कंप्यूटर को कोई Data Execute करना होगा तो वो Ram तक नहीं जायेगा| वो Ram से डाटा Fetch नहीं करेगा उससे पहले वो 
 Re-right कमांड दे सकता है| Cache Memory बहुत ज़्यदा help करती है आपके कंप्यूटर को तेजी से काम करने में|  


Mobile cache memory kya hai?

Cache Memory आपके Android Phone में भी देखने को मिलती है|  लेकिन मोबाइल फ़ोन में Cache Memory अलग चीज है| ये वो चीज है जो आपकी कोई भी  Application या Mobile Phone ने किसी भी Application के Throw कुछ भी डाटा को Temporarily आपके फ़ोन में Save कर रखा है| 
 
उदाहरण  के लिए मान लीजिये आपने Google Map Open किया और आपने जगह-जगह Zoom in, Zoom out किया हुआ है| जगह-जगह Location Search किया हुआ है| तो ये सारी information Temporarily आपके फ़ोन में As a Cache File Store हो जाती है| जब आप अगली बार उसी location पर जाते है तो आपका डाटा Consume नहीं होगा क्योकि इसकी temporary file पहले से आपके फ़ोन में Google Map ने Save किया हुआ है| 

Advertisers Kaise Apko track Karte hai?

कैसा हो अगर आप किसी मॉल में जाएं वहां पर कोई कोई चीज़ स्मार्टवॉच,आपको पसंद आया आपने  उसको उठाया देखा आपको अच्छा नहीं लगा और आपने स्मार्टवॉच,को  वापस रख दिया  लेकिन अब आप मॉल की किसी भी दुकान पर जाएंगे आपको हर दुकान पर वही स्मार्टवॉच, दिखाया  जाये आपके घर तक  हर सिग्नल  पर हर जगह आपको वही स्मार्टवॉच, के Ads दिखें तो आपको कैसा लगेगा| 
 
यही तो होता है ऑनलाइन अगर आप कोई प्रोडक्ट देख रहे है किसी वेबसाइट पर इसके बाद  कभी भी कोई भी वेबसाइट विजिट करेंगे फेसबुक चलाएंगे, गूगल चलाएंगे हर जगह उसी चीज़ के हम को  Ads दिखाए जाते है| 
 
cookies का नाजायज़ फायदा उठाया जाता है| आपकी सारी Information site तक पहुंचाने के लिए| अधिकत्तर सभी वेबसाइट Google Ads network का ही इस्तेमाल करती हैं| जब-जब कोई भी वेबसाइट visit करते हो उसी Ad Network वाला उसी वेबसाइट के अंदर एक cookies Store कर देता है
ताकि आप जो-जो वेबसाइट visit करें cookies से सारी details  Ad Network तक पहुँचती जाये
 
जैसे अपने देखा होगा facebook का like button share button अलग अलग websites के अंदर होता है| जिस- जिस website के अंदर  like button share button दिखता है| या Login by facebook दिखता है| तो वहाँ उस website में भी cookies store कर दी है facebook वाले ने, अब चाहे गूगल हो या  फेसबुक आप क्या- क्या वेबसाइट visit करते हो| सारा cookies का Data उनके पास जाता रहता है
 
गूगल फेसबुक इन cookies को आपस में share कर लेते है| इसके बाद आप फेसबुक चलाओ या गूगल आपके पसंदीदा Products का Ads दिखने सुरु हो जाते है| 
 
आपको टारगेट करने के लिए पूरा एक जाल बिछाया हुआ है| आप जो कुछ Products search करते हो| उसके Ads दिखा दिखा कर आपको उसे खरीदने के लिए मजबूर कर दिया जाता है|कई बार ऐसा भी होता है आप उस products को खरीद चुके होते है| फिर भी आपको उसका ads दीखता ही रहता है| 
 

Facebook Ads disable  Kaise  Kare? 

Facebook ads disable Karen (step by step)

  1. फेसबुक App खोलें  ⇒𝄘👈three-line पर क्लिक करें| 
  2. Setting Privacy पर क्लिक करे⇒Setting पर क्लिक करें| 
  3. scroll करके निचे आये⇒ad Preferences पर क्लिक करें 
  4. ads setting पर क्लिक करें⇒आपको  2 option देखने को मिलेगा| 
  5. ads based on data from partner→disable करें 
  6. ads based on your activity on Facebook company products that you see elsewhere→disable करें|  
  7. अंत में आपके सामने Yes, No का 2 options show होंगे आपको No पर click कर देना है| 


Chrome browser me third party cookies disable Kaise Kare?

chrome browser third-party cookies disable (step by step) 
  1. chrome browser खोलें⇒सर्च सेटिंग पर क्लिक करें|(only pc) 
  2.  सर्च सेटिंग में Cookies type करें| 
  3. पेज scroll करें⇒Content setting पर क्लिक करें| 
  4. Content setting पर क्लिक करने के बाद⇒पहला Option cookies पर क्लिक करें| 
  5. आपको तीसरे नम्बर पर Block third part cookies का option show होगा जो पहले से off रहता है⇒इसको ON कर ले| 
  6. अपने Android फ़ोन का chrome browser open करें| three dots पर tap करें| 
  7. Setting पर tap करें ⇒Scroll करके निचे आये⇒Site setting पर click करें| 
  8. आपको cookies का option show होगा यहाँ से आप desable कर सकते हैं| 

mozila firefox me third party cookies disable Kaise Kare?

mozila firefox cookies disable (step by step)
  1. firefox Open करें⇒Tool पर Click करें ⇒Privacy पर क्लिक करें| 
  2. firefox will पर क्लिक करें⇒Use Custom settings for history पर क्लिक करें| 
  3. Accept third party cookies का option देखने को मिलेगा⇒Never पर click करें| 


mobile me Ads disable Kaise Kare?

  1.  मोबाइल की सेटिंग में जाएं→Google option सर्च करें| 
  2. Google पर क्लिक करें→ads पर tap करें| 
  3. आपको 2 option show होगा पहले वाले ads personalisation को enable करें| 
इससे क्या होगा? आप जो कुछ search करते हो,ईकॉमर्स वेबसाइट आदि पर तो  ये सब Products के ads आपको नहीं दिखेंगे| हाँ  normal ads तो आपको दीखते ही रहेंगे|  लेकिन आपकी  पसंद नापसंद के ads दिखने बंद हो जायेंगे| 
 
तो दोस्तों उम्मीद करता हु| Cookies kya hai, Cookies Kaise kaam Karti  hai, cache memory kya hai, आपको इससे कुछ सिखने को मिला होगा| अपने दोस्तों के साथ share करें| आपका कोई इसके regarding कोई  Confusion हो तो कमैंट्स करें| 

 

Read this too
👇
Android mobile virus

1 2Next page

arvind

Hey, this is Arvind A full-Time Blogger & Digital Marketer, freelancer, blogging guidance

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button