Home technology Machine Learning Meaning In Hindi

Machine Learning Meaning In Hindi

0
machine learning meaning in Hindi

machine learning meaning in hindi यदि आप जानना चाहते हैं मशीन लर्निंग (machine learning) क्या है? कैसे काम करती हैं, इसका क्या इस्तेमाल है, कहाँ पर इस्तेमाल होता है आदि तो दोस्तों बनें रहें हमारे साथ आज हम इन्हीं सब बातो पर चर्चा करेंगे, और इसकी पूरी जानकारी देंगे 

 

आज के समय में विज्ञानं बहुत तरक्की कर रहा है, कलम से लेकर लैपटॉप तक सब कुछ विज्ञानं की ही देन है हमारी दुनिया उपकरण और मशीनों से भरी पड़ी है 

 

विज्ञानं ने मानव समाज के विकास में एक अहम् भूमिका निभाई है कंप्यूटर मनुष्य के इन्ही अद्भुत खोजो में से एक है जिसने मानव जीवन को हर एक छेत्र में प्रभावित किया है 

 

शुरुआती  दिनों में कंप्यूटर इतने सक्षम नही थे लेकिन लगातार विकास के कारण आज हमारे हर एक काम में कंप्यूटर हमारी जरूरत बन गये हैं 

 

आने वाले समय में मशीनी युग की सुरुआत हने वाली है या ये भी कहना गलत नही होगा की सुरुआत हो चुकी है जहाँ कंप्यूटर भी मनुष्यों की तरह सोचने समझने की क्षमता रखते हैं 

 

तो दोस्तों आज हम एक मशहूर तकनीक के बारे में जानेगे जिसका नाम है “मशीन लर्निंग” (Machine Learning

दोस्तों आप में बहुत से लोगों ने इसका नाम सुना होगा यहाँ तक दैनिक जीवन में आप इसका उपयोग भी करते होंगे यदि आप इसके बारें में विस्तार से जानना चाहते है तो हमारें साथ बने रहें 

Machine Learning Meaning In Hindi

मशीन लर्निंग (Machine Learning) क्या है 

Machine Learning Meaning In Hindi मशीन लर्निंग (Machine Learning) Artificial intelligence का एक भाग है जो की सिस्टम को ये काबिलियत प्रदान करता है की वो खुद ब खुद चीजे सिख सके और जरूरत पड़ने पर खुद को और भी बेहतर बना सके 

 

मशीन लर्निंग (Machine Learning) स्पस्ट रूप से प्रोग्राम के लिए बिना सिस्टम को Automatically Learn करना सिखा सकती है इसमें कार्य करने के लिए इतना सक्षम बना दिया जाता है की मशीन अगली बार से अपने पिछले अनुभव के Base पर अपने आप ही उस कार्य को पुरा करती है और Continuously उसमे संशोधन भी करती रहती है

 

जैसे की हम इन्सान करते हैं इन्सान अपने अच्छे बुरे अनुभवो से कुछ न कुछ नया सीखते हैं और भविष्य में उस अनुभव के आधार पर कार्य करते हैं 

मशीन लर्निंग (Machine Learning) का भी Concept कुछ इसी आधार पर बना है यानि की किसी एक विशेष कंप्यूटर या मशीन को इस तरह से Program किया जाता है की वो User के अनुसार काम कर सके 

साथ ही यूजर के Command, और उससे जुड़े डाटा को Store करके रख सके 

मशीन लर्निंग (Machine Learning) कंप्यूटर Program के विकास पर Focus करता है जो की Data को खुद ही Access कर सके और बाद में खुद की लर्निंग के लिए इस्तेमाल कर सके 

 

मशीन के सिखने की प्रक्रिया Data या Observation से सुरु होती है जिसमे टैलेंट एक्सपीरियंस या इंस्ट्रक्शन के जरिये मशीन प्राप्त Data में Pattern की तलाश कर सके और भविष्य में मनुष्य द्वारा दिये गए उदाहरण के आधार पर बेहतर निर्णय लें सके 

 

मशीन लर्निंग (Machine Learning) बनाने का मुख्य उद्देश्य येही है की कंप्यूटर बिना किसी इन्सान की सहायत से स्वतः सिख सके और उसके अनुसार ही कार्य को अंजाम दें

आसान भाषा में बात करें तो “मनुष्य अपनी तरह ही सोचने वाली मशीन बनाना चाहता है”  

मशीन लर्निंग कैसे काम करता है?

Machine Learning Meaning In Hindi

मशीन लर्निंग (Machine Learning) कृत्रिम बुद्धिमत्ता (Artificial intelligence) का एक भाग है जो कंप्यूटर को इंसानों की भांति सोचने के तरीके के बारे में सोचना सिखाता है 

जैसे पिछले अनुभवों से सीखना और सुधारना, data की खोज पैटर्न की पहचान करके काम करता है और इसमें कम से कम human मौजूदगी होती हैं 

मशीन लर्निंग (Machine Learning) को इतना मूल्यवान बनने का एक बड़ा हिस्सा ये पता लगाने की क्षमता है की data को read या Collect करते समय मानव की नजरो से क्या छुट गया है मशीन लर्निंग उन जटिल पैटर्न को पकड़ने में सक्षम है जो Human Analysis के दौरान अनदेखा किया जाता है 

Machine Learning के काम को समझने के लिए इसके प्रकार को समझना बहुत जरुरी है जो निम्न  है 

Machine Learning Algorithms के प्रकार

  1.  Supervised Learning 
  2. Un Supervised Learning 
  3. Semi-Supervised Learning 
  4. Reinforcement Machine Learning
1. Supervised machine Learning 

इस प्रकार के Algorithm में मशीन अपने पिछले अनुभव से जो कुछ सिखा हुआ होता है उसे ये नए डाटा में लागु करता है, ताकि वो पहले से दिये गये उदहरण का इस्तेमाल करके भविष्य में होने वाली घटनाओ का अनुमान लगा सके ये Algorithm कुछ इसी तरह से काम करता है जैसे मनुष्य अपने अनुभवों से सीखते हैं 

 

Supervised Learning में मशीन को input के तौर पर विभिन्न प्रकार के उदाहरण तथा जवाब दिये जाते हैं जिससे ये Algorithm इन उदाहरणों से सीखती है और इन इनपुट के आधार पर सही आउटपुट का अनुमान लगाती है

 

2. Un Supervised machine Learning 

Un Supervised machine Learning Algorithm के विपरीत इसमें input के रूप में उदहरण और जबाब पहले से नहीं दिये जाते, इसमें Algorithm को खुद ही Data के आधार पर अनुमान लगाना होता है

 

इसी लिए ये Algorithm Test Data या Real Data से सीखते हैं जिन्हें पहले से Leveled, Classified, या Categories नही किया गया होता है 

 

Un Supervised Learning Algorithm data में समानताओ की पहचान करता है और डाटा के प्रत्येक नये टुकड़े में येसी सामान्यताओ की उपस्थिति या अनुपस्थिति के आधार पर आउटपुट देता है 

3. Semi-Supervised Learning 

ये Algorithm  दोनों Supervised और Un Supervised Learning के बिच में आता है क्योकि प्रशिक्षण के लिए ये दोनों Leveled और Un Leveled Data का इस्तेमाल करता है 

 

वो सिस्टम जो इस Algorithm method का इस्तेमाल करता है वो बड़ी ही आसानी से अपनी Learning Ability को समय-समय पर काफी सुधार करने में सक्षम होता है 

4. Reinforcement Machine Learning

Reinforcement Machine Learning एक सिखने की विधि है जो क्रियाओ को प्रस्तुत करके अपने आसपास के वातावरण से बातचीत करता है और साथ ही Error को Discover करता है 

 

Trial and error को खोज निकालना और उनके बारें में पता लगाना इस Algorithm की खासियत है 

यह Method मशीन और सॉफ्टवेयर एजेंट को किसी भी विशेष निर्देश के गतिविधियों का खुद से पता लगाने में सहायता करता है जिससे ये सिस्टम की परफॉरमेंस को और बेहतर बना सके |

 

Machine Learning का कहाँ पर इस्तेमाल किया जाता है  

Machine Learning का उपयोग करके गूगल बहुत सी नई चीजे कर रहा है जैसे Google Translate, सड़क के किनारे लगे संकेत बोर्ड या किसी भाषा में लिखे मेनू की फोटो लेकर उसमें लिखे शब्दों पर उल्लेखित भाषा का पता लगाता है और अनुवाद करने में सहायता करता है

 

Google Assistance जिसमें आप कुछ भी बोल कर Command देते हैं और आपको परिणाम मिलता है असल में यह मशीन लर्निंग Algorithm का ही कमाल है 

मशीन लर्निंग के जरिये काम करने वाले Speech Recognize यानि बोली को पहचानने वाली तकनीक अपना काम सुरु कर देती है 

मशीन लर्निंग का इस्तेमाल और भी जगह जैसे शोपिंग वेबसाइट, फेसबुक Amazon Alexa, Apple Siri आदि इसके उदाहरण है 

Facebook

फेसबुक मशीन लर्निंग का इस्तेमाल Automatic friend tracking Suggestion, में करता है, इसमें Face detection, image recognition के आधार पर Facebook अपने Database में check करता है और किसी फोटो और image को पहचान लेता है 

 

Amazon

जब आप Amazon या किसी बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर कोई प्रोडक्ट सर्च करते हैं तो आपके द्वारा सर्च की गई सभी प्रोडक्ट हर जहग जो भी वेबसाइट visit करते है सभी जहग दिखाई देता है 

यदि आप कोई Face Mask Buy करते है तो आपको Suggestion में Sanitizer+ shield mask भी मूल्य के साथ दिखाया जाता है ये सब मशीन लर्निंग का कमाल है 

Google आपके हर गतिबिधियो पर नज़र रखता है और आपके intent को बारीकी से जाचता है, ताकि आपके intent के Base पर विज्ञापन दिखा सके 

machine learning meaning in Hindi, मशीन लर्निंग के फायदे? 

Machine Learning (मशीन लर्निंग) फायदे की बात करें तो इससे इंसानों की जिंदगी काफी आसान हो गई है 

जहाँ Machine Learning (मशीन लर्निंग) का इस्तेमाल लगातार हर छेत्र में कार्यो को बेहतर करने के लिए किया जा रहा है , और इसके लिए लगातार और भी प्रभावी और कुशल बनाया जा रहा है 

Machine Learning (मशीन लर्निंग) का इस्तेमाल किसी एक छेत्र में सीमित नही है बल्कि इस तकनीक का फायदा लगभग हर एक छेत्र में हो रहा है जैसे भविष्य में होने वाली Sale का अनुमान

साथ ही Customer के Browsing behavior को समझकर उचित प्रोडक्ट उनके Screen पर सुझाया जाना जिससे ज्यादा से ज्यादा Sale Generate हो पायें 

Finance sector

Finance sector में भी Machine Learning (मशीन लर्निंग) का उपयोग किया जा रहा है जिससे कस्टमर को तेज व बेहतर सेवा उपलब्ध कराई जा रही है जैसे लेनदेन, सुरक्षा बढ़ाना, Fake Payment को Decline करना आदि 

Health Care

Health Care sector में भी Machine Learning (मशीन लर्निंग) बहुत तेजी से कार्य कर रही है Machine Learning की सहायता से मनुष्य के शारीरिक गतिविधियों द्वारा उनके बीमारी का पता लगाने में मदद मिलती है 

साथ ही कम खर्च में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ावा मिलता है 

Tech Company 

Tech Company जैसे Google, Facebook आदि कंपनिया Machine Learning (मशीन लर्निंग) का इस्तेमाल करके यूजर क्या सर्च करता है, किस में उसकी रूचि है बारीकी से Analysis करके User के intent के अनुसार ads दिखाती हैं 

जरा आप सोचिए अगर एक रिस्क्सा चालक को Audi Car का विज्ञापन दिख रहा हैं तो वो व्यर्थ है, इसलिए Machine Learning की मदद से जिनको जिस जीज में रूचि है, जिस चीज को वो सर्च कर रहा है उसके अनुसार विज्ञापन दिखाया जाता है ताकि विज्ञापनदाता को अच्छा Conversion प्राप्त हो 

ये सभी विज्ञापन User के Past Search Behavior के आधारित होते हैं इसी लिए इसे “Target ads ” भी कहा जाता है 

Spamming Control 

इसके अलावा Machine Learning (मशीन लर्निंग) का इस्तेमाल स्पैमिंग फ़िल्टर करने, धोखाधड़ी पकड़ने, साइबर अपराध को कन्ट्रोल करने आदि कामो के लिए इस्तेमाल किया जाता है तथा कुछ छेत्रो में Research किया जा रहा है की कैसे ये हमारे लिए फायदेमंद साबित हो सकता है 

Artificial Intelligence VS Machine Learning

दोस्तों Artificial Intelligence और Machine Learning दोनों ही अलग अलग हैं दरअसल Machine Learning Artificial Intelligence का एक भाग है 

Machine Learning मशीन लर्निंग 

यहाँ पर मशीन/कंप्यूटर को अनुभव के साथ सिखाया जाता है की कैसे वो अपनी समझ को इम्प्रूव कर सकता है / परफॉरमेंस को इम्प्रूव कर सकता है

जैसे उदाहरण के लिए कोई फ़ोन का कैमरा है उसको सिखाना है की ये जो सामने चीज है वो बन्दर है तो यहाँ पर उसके Algorithm में पहले से ही तरह-तरह के बंदरो की फोटो, अलग-अलग Angle, तथा अलग-अलग जगहों की दिखाया जाता है 

तो यहाँ पर मशीन एक पैटर्न बनाती है की बन्दर की फोटो कुछ इस तरह की होती है 

आगे जब उसको बन्दर दिखाया जाता है तो वो बता देगा की ये बन्दर की फोटो है क्योकि बन्दर को Identification में वो एक्सपर्ट हो गया है लेकिन जब उसको कल कोई कुत्ता दिखेगा तो ये सिस्टम Fail हो जायेगा 

क्योकि उसने कुत्ते के बारे में कभी पढा ही नही वो सिर्फ बिल्ली के बारे में एक्सपर्ट था 

मशीन लर्निंग में होता ये है “एक Specific चीज को टारगेट किया जाता है उसके बाद उसी की प्रेक्टिस कर-कर के मशीन अपने Performance को improve करती हैं 

जैसे कोई Software उसको आप सिखा रहे हो जो आपके hand Writing को पहचानता है आपने क्या किया तरह, तरह के फॉण्ट, अलग-अलग स्टाइल में English के Words कैसे होते है, कैसे अलग-अलग पैटर्न आते हैं ये सब आपने मशीन को सिखा दिया और वो समय-समय पर इम्प्रूव भी कर रहा है, वो आपकी Hand Writing समझ रहा है की आपने क्या लिखा है 

 

लेकिन अगर किसी ने हिंदी में कुछ लिख दिया तो वो Fail हो जायेगा, यदि आपने उसे हिंदी भी सिखा रखा है, तो यदि किसी ने  बंगाली में कुछ लिख दिया तो भी Fail हो जायेगा

तो यहाँ पर मशीन लर्निंग का मतलब इतना है की आप एक Algorithm के जरिये एक Specific चीज में उस सिस्टम को एक्सपर्ट बना रहे हो, जो की एक्सपीरियंस के साथ बन रहा है 

Artificial Intelligence (AI)

यहाँ पर जो सिस्टम होता है वो है intelligent यानि की ये सिर्फ एक चीज में नही बल्कि बहुत सारी चीजे में अपनी तरफ से input डाल सकता है हम इंसानों की तरह जैसे हम सोचते है, हममे एक समझ है, Creativity है तो जो AI सिस्टम है वो भी कुछ इस तरह काम करते हैं

जहाँ पर वो सिर्फ एक पैटर्न पर ही नही बल्कि और भी चीजे Analysis करके Multiple Action अपनी समझ से लेता है 

अपने बहुत बार सुना होगा बहुत सारी मोबाइल कंपनिया दावा करती हैं की हमारा मोबाइल का कैमरा में AI है , दरअसल वो लोगों को मुर्ख बनाती है वो AI “नही मशीन लर्निंग” है 

मशीन लर्निंग का स्कोप सीमित है ,जबकि Artificial Intelligence का बहुत विशाल स्कोप है 

Machine Learning के Advantages

  • Machine Learning के बहुत सारे वाइड एप्लीकेशन है जैसे की बैंकिंग & फाइनेंसियल सेक्टर, हेल्थ केयर, रिटेल पब्लिशिंग इंडस्ट्री में 
  • Machine Learning का इस्तेमाल Dynamic और multi-variety data को handle करने के लिए किया जाता है
  • Machine Learning के इस्तेमाल से Time Cycle Reduction होता है और Resources का Efficient Utilization भी किया जा सकता है 
  • Autonomous Computer का Development Software Programs आदि टास्क परफॉर्म कर सकते है 

Machine Learning के Dis-Advantages

  • Machine Learning की एक major challenge होती है जिसमे Different Algorithm पर base होकर data को Process किया जाता है 
  • interpretation जिसका मतलब है Result भी एक बहुत major challenge है जिसमे ये पता लगाना होता है की मशीन लर्निंग एल्गोरिदम की प्रभावशीलता कितनी है 
  • Machine Learning algorithm के user limited होते हैं 
  • ज्यादातर Case में Machine Learning Fail होता है प्रॉब्लम के बारे में कुछ Understanding होना बहुत जरुरी होता है जिससे सही एल्गोरिदम को अप्लाई किया जा सके
  • डीप लर्निंग एल्गोरिदम के तरह ही मशीन लर्निंग में भी बहुत से training data की जरूरत होती है 
  • इसमें बहुत ही कम सम्भावना होती है immediate prediction करने के Machine Learning सिस्टम के साथ साथ में न भूले की ये Historical Data से ही ज्यादातर Learn करते है
  • Machine Learning में ज्यादा Variability का न होना भी एक दूसरा limitation है 

मशीन लर्निंग का भविष्य

इस प्रश्न का उत्तर देने के लिए, मार्क्समैन की टीम ने मशीन लर्निंग का वैश्विक विकास” नामक एक अध्ययन आयोजित करने के लिए एक वैश्विक शोध संगठन, विप्रो के साथ सहयोग किया है।

रिपोर्ट 2017 से 2022 तक के पूर्वानुमानों के साथ एआई (AI) और मशीन लर्निंग (Machine Learning) प्रौद्योगिकियों, प्रमुख विक्रेताओं और उपयोगकर्ताओं, और प्रमुख भविष्य के विकास पर आधारित एक व्यापक बाजार अध्ययन प्रस्तुत किया है।

वैश्विक मशीन सीखने का बाजार 2022 तक 8.81 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक हो जाएगा।  2016-2022 के दौरान 44.1% की Compound Annual Growth Rate (CAGR) से बढ़ रहा है। 

बैंकिंग, वित्तीय सेवाएं और बीमा (बीएफएसआई) क्षेत्र का 2017 तक कुल बाजार का 35.5% हिस्सा होने का अनुमान है।

इंटरनेट, खुदरा और ईकामर्स (खुदरा) सबसे बड़ा राजस्व उत्पन्न करने वाला कार्यक्षेत्र होगा, जो यूएसडी 12 billion से अधिक का उत्पादन करेगा 2022 तक 

तो दोस्तों उम्मीद करता हूँ आपको machine learning meaning in hindi आर्टिकल पसंद आया होगा

धन्यवाद 

ये भी पढे  

 कूकीज क्या है कैसे काम करती है 

Captcha Code Kya Hota Hai

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here