International Tea Day 2022: जानिए क्या है अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का इतिहास और महत्व

International Tea Day 2022 चाय रोजमर्रा की जिंदगी का अहम हिस्सा है। कुछ लोग चाय के दीवाने इस कदर होते हैं कि चाय के बिना दिन की शुरुआत ही नहीं होती। कोई दिन में 3-4 बार चाय पीता है तो कोई दिन में 5 बार। इन दफ्तरों में काम करने वाले कुछ लोग माइंड रिलैक्स के लिए चाय पीते हैं। कोई इसे सुबह और शाम को ही पीता है तो कोई दोपहर में।

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस 21 मई, 2022

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस 21 मई, 2022 को मनाया जाता है। यह दिन मुख्य रूप से चाय की खपत बढ़ाने के इरादे से मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र ने 21 मई को अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया है, क्योंकि अधिकांश चाय उत्पादक देशों में मई में चाय का मौसम शुरू होता है।

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस संयुक्त राष्ट्र खाद्य और कृषि संगठन (FAO) द्वारा मनाया जाता है। इससे पहले, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, वियतनाम, इंडोनेशिया, केन्या, मलावी, मलेशिया, युगांडा, भारत और तंजानिया जैसे चाय उत्पादक देशों में 15 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस के रूप में मनाया जाता था।

यूएन का कहना है कि चाय का औषधीय महत्व है और इसमें लोगों को स्वास्थ्य लाभ पहुंचाने की क्षमता है। 2019 में, संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने दुनिया के सबसे पुराने पेय पदार्थों के महत्व को मान्यता दी है। चाय कई संस्कृतियों का केंद्र है। यह रोजगार, निर्यात आय और खाद्य सुरक्षा में योगदान के लिए जाना जाता है। संयुक्त राष्ट्र ने न केवल चाय के फार्मास्यूटिकल घटक को मान्यता दी है, बल्कि यह पेय को अपने सतत विकास लक्ष्य कार्यक्रम का एक प्रमुख घटक भी मानता है।

World Veterinary Day 2022: जानिए क्या है थीम, और महत्त्व

अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस का इतिहास

2005 में, भारत में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय चाय दिवस मनाया गया। 2015 में, भारत सरकार ने इस दिन को विश्व स्तर पर विस्तारित करने का प्रस्ताव रखा। यह दिन मई में मनाया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अधिकांश देशों में साल के इस समय में चाय का उत्पादन शुरू हो जाता है।

चाय उद्योग कुछ सबसे गरीब देशों के लिए निर्यात आय का मुख्य स्रोत है। साथ ही कई लोगों को रोजगार भी उपलब्ध करा रहे हैं। इसके अलावा, यह विकासशील देशों में ग्रामीण विकास, गरीबी उन्मूलन और खाद्य सुरक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लाखों परिवार अपने जीवनयापन के लिए चाय पर निर्भर हैं।

चाय कश्मीरी दोपहर चाय, गुजराती उकाडो, ईरानी चाय, बंगाल लैबू चाय और मैंगलोर में कसाई में उपलब्ध है।

चाय पीने के स्वास्थ्य लाभ:-

  1. उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करना:- चाय में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं, ये मुक्त कणों से लड़ते हैं जो हमारे शरीर में उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को बढ़ावा देते हैं और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करते हैं। इसका हमारे शरीर पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ग्रीन टी शरीर में एक प्रतिरक्षा प्रणाली के रूप में कार्य करती है। यह कोलोरेक्टल कैंसर के विकास को रोकने में भी सहायक है।
  2. शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं:- चाय के सेवन (दूध वाली नही) से हड्डियां मजबूत होती हैं. अध्ययनों से पता चला है कि जिस किसी को भी चाय पीने की आदत होती है, वह अपनी बुरी आदतों के बावजूद दूसरों की तुलना में मजबूत होता है।
  3. चाय में होती है कम कैलोरी : चाय में कैलोरी की मात्रा कम होती है। तो आपको बस पानी उबालने के लिए चाय के पाउडर को उबाल कर पीने की आदत डालनी है।
  4. फेफड़ों को रखती है दुरुस्त : ब्लैक टी में कैफीन की मात्रा सबसे अधिक होती है। अध्ययनों से पता चला है कि यह फेफड़ों को नुकसान से बचाता है। यह पक्षाघात के जोखिम को भी कम करता है। लेकिन इसमें कॉफी की तुलना में कैफीन की मात्रा कम होती है।
  5. दिल का दौरा, स्ट्रोक की समाश्या से छुटकारा में मददगार :- चाय के सेवन के लिए हार्ट अटैक और स्ट्रोक को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। कहा जाता है कि चाय पीने से दिल की धमनियां नरम हो जाती हैं। इस प्रकार, चाय कोलेस्ट्रॉल को दूर करने में मदद करने के लिए एक उत्कृष्ट पेय के रूप में जानी जाती है। रोजाना तीन से पांच कप चाय पीने से आप दिल की समस्याओं से बच सकते हैं।

चाय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद या घातक है

क्या चाय सेहत के लिए अच्छी है? यह बुरा है ? या नहीं, इस पर बहस चल रही है। मेडिकल और साइंटिफिक रिसर्च के मुताबिक दिन में चार कप चाय पीने से आप अपने स्वास्थ्य की रक्षा कर सकते हैं। विभिन्न अध्ययनों ने साबित किया है कि विभिन्न प्रकार की चाय आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ा सकती है, सूजन से लड़ सकती है और कैंसर और हृदय रोग को दूर रख सकती है। इसलिए इससे पहले कि आप बहुत अधिक चाय पीएं, इसके बारे में सोचें जब आपका शरीर प्रतिक्रिया दे और अपने डॉक्टर से सलाह लें।

हाल के दिनों में चाय पीने वालों की संख्या बढ़ रही है और चाय की मांग बढ़ गई है। बारिश के मौसम में और सुबह-सुबह चाय पीना चाय पीने का एक शानदार तरीका है।

Leave a Comment